माँ – Anadya

माँ – Anadya

माँ – Anadya

आपसे मै इस जग में आई..
आप ही आप जो मुझ में समाई..
आप मेरे जीवन की आशा..
आपसे ही मेरी अभिलाषा..
आप मेरे जीवन की शक्ति..
आप ही ईश् आप ही भक्ति..
आपसे ही है मेरी काया..
कड़ी धूप में ठंडी छाया..
आप खुश तो घर में खुशहाली..
आपसे ही होली दीवाली..
सबसे प्यारी आपकी मुस्कान..
आप संग तो सब आसान..
आप रखती कितने व्रत उपवास..
आपकी पकाई हर रोटी खास..
आपकी सीख हमारा व्यवहार..
उच्च शिक्षा कुशल आचार..
बनना चाहूँ आपकी परछाई..
आप ही आप जो मुझ में समाई!!

-Anadya

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *