Home

मशलसल हाथों में गुलाब रहने दो

मशलसल हाथों में गुलाब रहने दो

जो ख्वाब है उसे ख्वाब रहने दो । मशलसल हाथों में गुलाब रहने दो । देखो तुम दवा लेने की बात मत किया करो , तबियत खराब है , तो खराब रहने दो । जब देखो मयकदे आ जाया करते हो , भला इतना कौन पिता है शराब रहने दो । तुम क्यों गोल – […]

Read More
राष्ट्रगान इतना ज़रूरी है क्या?

राष्ट्रगान इतना ज़रूरी है क्या?

मैं जब छोटा था तो स्कूल में, थोड़ा बड़ा हुआ तो कॉलेज में हर रोज़ राष्ट्रगान बजता था, हम सब सावधान की मुद्रा में खड़े रहकर राष्ट्रगान का सम्मान करते थे और उसके बाद तीन बार भारत माता की जय भी बड़े जोश से बोला करते थे।  आज भी जब कभी कहीं राष्ट्रगान बजता है […]

Read More
पीछे मुड़कर देखना ज़रूर

पीछे मुड़कर देखना ज़रूर

  रुख़्सत हो जाना भले ही मेरी जिंदगी से फर्क न परे अब तुझे मेरी आशिक़ी से चाहे भूल कर भी तुझे मेरी याद न आये तरपता रहू मैं तू सुकून पाये बस बताती जाना मेरा क़ुसूर ऐ जान- ए -तम्मना पीछे मुड़कर देखना ज़रूर बेगैरत कहे मुझको सारा ज़माना जाके अपने क़मर से तू […]

Read More
अच्छा लगता हैं

अच्छा लगता हैं

कुछ कहना है तुमसे कहूँगा तो बुरा तो नही मानोगी। वो जब भी तुम अपने बालो को चेहरे से हटाती हो ना अच्छा लगता है वो जब भी मासूम सी शक्ल बनाती हो ना अच्छा लगता है। वो जब भी तुम बड़े हक से डांट देती हो ना अच्छा लगता है वो जब भी तुम […]

Read More
एक आस

एक आस

तुम जब मुझसे रूठ कर थोड़ी दूर चली जाती हो, उस वक़्त मेरा तुम्हें मनाने का जी करता है। ये इस बात का प्रमाण है कि मैं तुमसे प्रेम करता हूँ। रूठना प्रेम का एक अभिन्न अंग है। जो प्रेमी कभी रूठें ना हों, उनका प्रेम ढोंग है। वो धोखा है प्रेम के अपने स्वभाव […]

Read More
बरहज मेरा घर ……नाम तो सुना ही होगा by -RIZWAN AHSAN TIPU

बरहज मेरा घर ……नाम तो सुना ही होगा by -RIZWAN AHSAN TIPU

बरहज ये वो नाम जो शायद किसी को इतने ऊँचे ओहदे पर ले गया और शायद किसी को यहीं कीसी गलियों में घूमने दिया | कई लोगों के दिल में बरहज के प्रति इतना प्यार हो गया या यूँ कहें कि बरहज छोड़ के तो गए फिर कुछ समय बाद वापस भी आ गए मैं […]

Read More
घबराइए आप लखनऊ में हैं… — Devesh Mishra

घबराइए आप लखनऊ में हैं… — Devesh Mishra

कुछ दिन पहले एक फिल्म पर आंख गई थी. दो घंटे की पिक्चर में करीब दो सौ लोगों का एन्काउंटर कर दिया जाता है. फिल्म का नाम था- शूट आउट एट लोखंडवाला. आज लोखंडवाला का ‘ल’ लखनऊ में सम्मिलित हो गया. फिल्म में पुलिस कमिश्नर शमशेर ख़ान (संजय दत्त) गोलियों को कंचे की भांति चलाता […]

Read More
मै औरत हूँ

मै औरत हूँ

हाँँ मैं औरत हूँ। मै कमजोर नही मै लाचार नही ना मैं कोमल सिसकती हुई कली हूँ। मुसलसल रोको मत तुम मुझे। ख़ुदा की बनाई इनायत हूँ मैं क्या तुम रोक पाओगे? मै शक्ति का एहसास हूँ। मै उसकी बनाई चीज सबसे खास हूँ। क्या मैं घबरा जाऊँगी? ऐ पुरुष किस बात के पौरुष पे […]

Read More
मै प्रेमी हूं- Afzaal Ashraf Kamaal

मै प्रेमी हूं- Afzaal Ashraf Kamaal

आज के इस दौर में, दौर, जो चुनावों का है, चुनाव, जो नेताओं का त्यौहार होता है, नेता, जो सिर्फ राजनीति करते हैं राजनीति तो आजकल हर कोई कर रहा है।   आपके और मेरे अगल बगल में बैठे लोग लोग, जो आपके अपने हैं, लोग जो आपको बेहद प्रिय हैं, लोग जो आपको अपना […]

Read More
Tribute: Dushyant Kumar – सलाम: दुष्यंत कुमार

Tribute: Dushyant Kumar – सलाम: दुष्यंत कुमार

हो गई है पीर पर्वत-सी पिघलनी चाहिए इस हिमालय से कोई गंगा निकलनी चाहिए आज यह दीवार, परदों की तरह हिलने लगी शर्त थी लेकिन कि ये बुनियाद हिलनी चाहिए हर सड़क पर, हर गली में, हर नगर, हर गाँव में हाथ लहराते हुए हर लाश चलनी चाहिए सिर्फ हंगामा खड़ा करना मेरा मकसद नहीं […]

Read More