उसने खिड़की पे आ के बस इतना कहा था- मिना नाज़ क़ादरी

उसने खिड़की पे आ के बस इतना कहा था, दबे होठों से मुझे अलविदा कहा था। ना कोई बात,न सलाम,ना दुआ, उसने कुछ इस अंदाज से अलविदा कहा था। मैं…

Continue Reading

इंग्लिश टीचर- वकी उल्लाह खान

मैं जब इस सैशन के पहले दिन स्कूल आया, एक चेहरा मुझको नया नज़र आया, मैंने जब इसके बारे में पूछना चाहा, इससे पहले इसका पहला पीरियड मेरे क्लास में…

Continue Reading
Close Menu